Headlines :
Home / National / सुप्रीम कोर्ट का अहम फैसला – BJP MLA को मंत्रिपद से हटाया

सुप्रीम कोर्ट का अहम फैसला – BJP MLA को मंत्रिपद से हटाया

सुप्रीम कोर्ट ने मणिपुर के वन मंत्री एवं भाजपा विधायक टी. श्यामकुमार को मंत्री पद से हटा दिया। उनके मणिपुर विधान सभा में घुसने पर भी रोक लगा दी है। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बावजूद स्पीकर ने इस मामले में 4 सप्ताह के भीतर अयोग्यता पर फैसला नहीं किया था। इस पर सुप्रीम कोर्ट ने नाराज होकर संविधान के अनुच्छेद 142 के तहत अपने विशेषाधिकार का इस्तेमाल किया।

कोर्ट ने कहा कि “मंत्री श्याम कुमार विधान सभा में प्रवेश नहीं करेंगे। सुप्रीम कोर्ट ने कुमार को उनके मंत्री पद से भी हटा दिया। अब इस मामले पर अगली सुनवाई 28 मार्च को होगी।

उच्चतम न्यायालय ने 21 जनवरी को मणिपुर विधानसभा के अध्यक्ष से कहा था कि “वह मणिपुर के वन मंत्री एवं भाजपा विधायक टी. श्यामकुमार को अयोग्य ठहराने की मांग करने वाली कांग्रेस नेता की याचिका पर चार हफ्ते में फैसला लें।” इसी दौरान अदालत ने अयोग्य ठहराने की मांग करने वाली याचिकाओं को देखने के लिए एक स्वतंत्र प्रणाली बनाने का सुझाव दिया था।

न्यायमूर्ति आर. एफ. नरीमन की अध्यक्षता वाली पीठ ने कांग्रेस विधायक फजुर रहीम और के. मेघचंद्र से कहा था कि “यदि विधानसभा अध्यक्ष भाजपा के मंत्री की अयोग्यता की मांग करने वाली याचिका पर चार हफ्ते के भीतर फैसला नहीं ले पाते हैं तो वह फिर से सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटा सकते हैं।”

भाजपा के मंत्री ने विधानसभा चुनाव कांग्रेस के टिकट पर जीता था लेकिन बाद में वह भाजपा में शामिल हो गए और मंत्री बन गए। कोर्ट ने कहा था कि “संसद को इस पर पुन: विचार करना चाहिए कि अयोग्यता संबंधी याचिकाओं पर फैसला अध्यक्ष द्वारा लिया जाना चाहिए अथवा नहीं।” कोर्ट ने विधानसभा अध्यक्ष की शक्तियों पर पुन: विचार का सुझाव देते हुए कहा कि यह ध्यान रखना आवश्यक है कि अध्यक्ष स्वयं किसी राजनीतिक दल से आते हैं।

About Shaista Parveen

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

गायघाट में कोरोना से बचाव को लेकर प्रखंड प्रशासन सतर्क, लोगों को कर रहे जागरूक…

रूपेश कुमार की रिपोर्ट/मुज़फ़्फ़रपुर मुज़फ़्फ़रपुर: जिला प्रशासन के आदेशानुसार गायघाट प्रखण्ड प्रशासन ...

Call Now ButtonContact US