Headlines :
Home / Crime / राउज एवेन्यू कोर्ट में ताहिर हुसैन का सरेंडर, पुराने दोस्त कपिल मिश्रा पर लगाया साजिश का आरोप

राउज एवेन्यू कोर्ट में ताहिर हुसैन का सरेंडर, पुराने दोस्त कपिल मिश्रा पर लगाया साजिश का आरोप

देश की राजधानी दिल्ली में हुई हिंसा में आरोपी कहलाए जाने वाले आम आदमी पार्टी के पूर्व पार्षद ताहिर हुसैन ने अदालत में सरेंडर कर दिया है। ताहिर हुसैन ने कहा कि “मैं पूरी तरह से बेकसूर हूं और खुद दंगा पीड़ित हूं।” ताहिर हुसैन ने बताया कि “वो और उनका परिवार खुद दंगाईयों से जान बचाकर भागे थे और इसके बारे में पुलिस को भी जानकारी दी गई थी।”

ताहिर हुसैन ने आगे कहा कि “वह सरेंडर करने जा रहे हैं, वो उम्मीद करते हैं कि जांच निष्पक्ष होगी। 24 तारीख को मैं अपने परिवार के साथ निकला था, पुलिस वहां पर मौजूद थे और उसके बाद उस बिल्डिंग से कोई मतलब नहीं है। पुलिस ने उस बिल्डिंग को अपने कब्जे में ले लिया था, लेकिन जिस घटना की बात की जा रही है 25 तारीख की है।”

भारतीय जनता पार्टी पर निशाना साधते हुए ताहिर हुसैन ने बताया कि “हिंसा की वजह से मेरी जिंदगी तबाह हुई, क्योंकि मैं आम आदमी पार्टी का सदस्य था और नाम भी ताहिर हुसैन था इसलिए साजिश के तहत फंसाया गया। हमारा पुराना साथी जो कपिल मिश्रा रहे हैं, उनका ही इसमें कोई खेल रहा है। मेरे खिलाफ जिस तरह साजिश रची गई, जब मैं 24 को वहां से निकल गया तो 25 तारीख की घटना में मेरा नाम कैसे आ रहा है।” बता दें कि कपिल मिश्रा जब आम आदमी पार्टी में थे, तब ताहिर हुसैन उनके साथ ही काम करते थे।

वायरल वीडियो को लेकर ताहिर हुसैन ने कहा कि “उस वीडियो में मैं हूं, लेकिन वो 24 तारीख का वीडियो है जब वहां दंगाई आए थे और वो डंडा लेकर उनको वहां से भगा रहे थे। तब उन्होंने पुलिस को भी फोन किया था, जो नुकसान वाली वारदात है 25 तारीख की है। 24 तारीख की रात को मैंने पुलिस को बार-बार फोन किया था और जान बचाने को कहा था। सोशल मीडिया के जरिए मेरे खिलाफ दुष्प्रचार किया गया था।”

ताहिर हुसैन ने बताया कि “मेरा घर जहां पर है वहां दोनों पक्ष के लोग रहते हैं, मैंने 24 तारीख को पुलिस को फोन कर मदद मांगी थी। तब पुलिस काफी लेट आई थी और उन्होंने ही मुझे परिवार के साथ वहां से निकाला था। पुलिस ने मेरे घर की तलाशी ली थी, जब मैंने कहा था कि तब भी मैंने इस डर को बताया था कि उनके घर का गलत इस्तेमाल किया जा सकता है।”

इंटेलिजेंस ब्यूरो के अंकित शर्मा की हत्या पर भी ताहिर हुसैन ने बात की। ताहिर हुसैन ने कहा कि “अंकित की मौत से मैं दुखी हूं और परिवार के दुख में शामिल हूं। 24 की रात को तो घर पुलिस ने अपने कब्जे में ले लिया था, लेकिन ये मामला 25 तारीख का है। ऐसे में पुलिस की जांच से पता लगेगा कि ये घटना कैसी हुई, क्योंकि वहां मेरा परिवार या मैं नहीं था, 25 तारीख को हुई घटना में सिर्फ वहां पर दंगाई थे जो किसी भी धर्म के हो सकते थे।”

About Shaista Parveen

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

x

Check Also

गायघाट में कोरोना से बचाव को लेकर प्रखंड प्रशासन सतर्क, लोगों को कर रहे जागरूक…

रूपेश कुमार की रिपोर्ट/मुज़फ़्फ़रपुर मुज़फ़्फ़रपुर: जिला प्रशासन के आदेशानुसार गायघाट प्रखण्ड प्रशासन ...

Call Now ButtonContact US